Achyut Patwardhan Biography in Hindi | समाजवादी नेता अच्युत पटवर्धन की जीवनी

0
29
Achyut Patwardhan Biography in Hindi
Achyut Patwardhan Biography in Hindi

प्रसिद्ध समाजवादी नेता अच्युत पटवर्धन (Achyut Patwardhan) का जन्म 5 फरवरी 1905 को अहमद नगर में हुआ था | उनके पिता हरिकेशन पटवर्धन वहा के प्रसिद्ध वकील थे | अच्युत चार वर्ष के थे तभी उन्हें एक सम्पन्न और सेवानिवृत शिक्षा अधिकारी सीताराम पटवर्धन ने गोद ले लिया था | इस प्रकार अच्युत (Achyut Patwardhan) पर्याप्त सम्पति के स्वामी बन गये | उनके उपर आरम्भ से ही थियोसोफी के विचारों का प्रभाव था | वे आगे अध्ययन के लिए एनी बीसेंट द्वारा स्थापित सेंट्रल हिन्दू कॉलेज वाराणासी आये |

शिक्षा पुरी करने के बाद इसी कॉलेज से अध्यापक हो गये | 1932 के सविनय अवज्ञा आन्दोलन के समय अध्यापकी छोडकर अच्युत स्वतंत्रता संग्राम में कूद पड़े | उनके उपर समाजवादी विचारों का प्रभाव पड़ चूका था | 1934 में आचार्य नरेंद्र देव , जयप्रकाश नारायण आदि ने “कांग्रेस समाजवादी पार्टी” बनाई तो अच्युत प्रमुख नेता थे | 1936 में वे कुछ समय तक कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य भी रहे | 1942 के भारत छोड़ो आन्दोलन में भूमिगत रहकर अच्युत (Achyut Patwardhan) ने काम किया |

महाराष्ट्र के सतारा जिला में नाना पाटिल के साथ मिलकर “स्वतंत्र पत्री सरकार” की स्थापना की | दो वर्ष तक वहा ब्रिटिश सत्ता का कोई चिन्ह नही था | अपनी नवगठित पार्टी के समाजवादी विचारों का कांग्रेस में कोई प्रभाव न देखकर इन लोगो ने 1947 में कांग्रेस से अलग सोशलिस्ट पार्टी की स्थापना की | वे पुन: वाराणसी आकर अध्यापन करने लगे | 1966 में वहा से सेवानिवृत होकर उन्होंने पुरी तरह से सार्वजनिक जीवन से सन्यास ले लिया | 5 अगस्त 1992 को वाराणासी में उनका देहांत हो गया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here