Balwantrai Mehta Biography in Hindi | बलवंतराय मेहता की जीवनी

1
271
Balwantrai Mehta Biography in Hindi
Balwantrai Mehta Biography in Hindi

प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री बलवंत राय मेहता (Balwantrai Mehta) का जन्म 19 फरवरी 1889 ईस्वी को सौराष्ट्र की भावनगर रियासत में हुआ था | उन्होंने मुम्बई विश्वविद्यालय से बी.ए. की परीक्षा उत्तीर्ण की | इसी समय गांधीजी ने विद्याथियो से सरकारी शिक्षा संस्थानों की अपील की थी | इससे प्रभावित मेहता ने यूनिवर्सिटी से डिग्री नही ली और एक वर्ष बाद गुजरात विद्यापीठ के स्नातक बने | गांधीजी के सत्याग्रह और असहयोग आन्दोलन से प्रभावित होकर मेहता ने भावनगर रियासत में भी प्रतिनिधि शासन की स्थापना के लिए लोगो को संघठित करना आरम्भ किया |

हरिजन उद्दार की गतिविधियाँ बधाई , उनके लिए “ठक्कर बापा हरिजन आश्रम” बनाया | महिलाओं के लिए महिला विद्यापीठ की स्थापना की | भावनगर प्रजामंडल की स्थापना में भी वे अग्रणी थे | 1928 से 1947 तक उन्होंने अखिल भारतीय देशी राज्य प्रजा मंडल के रूप में महामंत्री के रूप में काम किया | बलवंत राय मेहता (Balwantrai Mehta) कांग्रेस के आंदोलनों में भी भाग लेते रहे | 1923 के नागपुर झंडा सत्याग्रह में वे जेल गये | 1930 में गांधीजी ने उन्हें ढोलेरा के नमक सत्याग्रह  नेता नियुक्त किया |

1940 और 1942 के आंदोलनों में भी वे जेलों में बंद रहे | स्वंतंत्रता के बाद 1948 में वे भावनगर के प्रधानमंत्री बने | वे भारत की संविधान सभा के भी सदस्य थे | 1952 में लोकसभा के सदस्य चुने गये | संघठित गुजरात राज्य बन जाने पर मेहता को 1963 में वहा का मुख्यमंत्री बनाया गया | 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में 19 सितम्बर 1965 को बलवंत राय मेहता (Balwantrai Mehta) के हवाई जहाज पर शत्रुओ ने गोली चला दी | इसमें उनकी और उनकी पत्नी सरोज बेन की मृत्यु हो गयी |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here