Genghis Khan Biography in Hindi | मंगोल योद्धा चंगेज खान की जीवनी

Genghis Khan Biography in Hindi | मंगोल योद्धा चंगेज खान की जीवनीचंगेज खान (Genghis Khan/Changez Khan) एक मंगोल योद्धा था जिसका वास्तविक नाम तेमुजिन था | उन्हें चंगेज खान (Changez Khan) की उपाधि दी गयी थी | वो 13वी सदी के एक ऐसे शासक हे जिन्होंने ऐसे साम्राज्य की स्थापना की जिसमे चीन ,मध्य एशिया ,मध्य पूर्व तथा यूरोप शामिल था | चंगेज खान (Genghis Khan) की उपाधि का अर्थ था “सागर का महान शासक “| वो युद्धकला में निपुण थे | वो मध्य मंगोलिया की ईसाई जाति के शासक तोफरील के अनुयायी बन गये | तोफरिल तथा एक युवा मंगोल नेता यमुका ने उनकी पत्नी को बचाने मस सहायता की जिसे कुछ अपहरणकर्ता उठा ले गये थे |

चंगेज खान (Genghis Khan) और तोफरिल ने तातारो के विरुद्ध युद्ध में उत्तरी चीन की सहायता की | जब तोफरिल एवं चंगेज के संबध बिगड़ गये तो उनके बीच युद्ध की नौबत आ गयी | पहले युद्ध में चंगेज की हार हुयी और उन्हें उत्तरी पूर्वी मंगोलिया के सुदूर क्षेत्र में जाना पड़ा | 1283 ईस्वी में चंगेज ने तोफरिल पर विजय प्राप्त कर ली | तोफरिल की प्रजा पर भी मंगोल का शासन हो गया | इसके बाद चंगेज खान (Genghis Khan) ने पश्चिमी मंगोलिया के नईमनो पर भी कब्जा कर लिया और मंगोला राजकुमारों ने उन्हें अपना सर्वेसर्वा मान लिया |

चंगेज (Genghis Khan) ने अपने साम्राज्य के लिए भाषा का लिखित रूप तैयार किया | सम्प्रेष्ण के लिए डाक पद्दति विकसित की | एक सैन्य नेता के रूप में उन्होंने चीन पर हमला किया | उत्तरी चीन में अपने जनरल नियुक्त करके उन्होंने अपना ध्यान मध्य एशिया पर केन्द्रित किया | अप्रैल 1220 तक चंगेज खान बुखारा और समरकंद पर भी कब्जा कर चुके तह | वापसी की यात्रा में मंगोलों ने रूसी और तुर्की सेना को भी पराजित किया | इस दौरान चंगेज (Genghis Khan) ने “तरमीज” पर कब्जा कर लिया जिसे अब “कजाकिस्तान” के नाम से जाना जाता है |

1221 में चंगेज खान (Genghis Khan) ने बलख शहर को भी नष्ट कर दिया | उन्होंने सुल्तान मुहम्मद के पुत्र जलाल-अलदीन से युद्ध छेड़ा , उसने नदी में तैरकर प्राण रक्षा की | उसकी पराजय से पश्चिम का अभियान पूरा हुआ | 1226 में तिब्बती लोगो “तंगुल” से युद्ध किया इसी युद्ध के दौरान 25 अगस्त 1227 को उनकी मृत्यु हो गयी |

Leave a Reply