Nandalal Bose Biography in Hindi | मशहूर चित्रकार नन्दलाल बोस की जीवनी

0
193
Nandalal Bose Biography in Hindi
Nandalal Bose Biography in Hindi

प्रसिद्ध चित्रकार नन्दलाल बोस (Nandalal Bose) का जन्म 1882 ईस्वी में खड़गपुर , बिहार में हुआ था | शिक्षा प्राप्त करने के लिए अनेक विद्यालयों में भर्ती कराया गया , पर वे पढ़ाई में मन न लगने के कारण सदा असफल होते | उनकी रूचि आरम्भ से ही चित्रकला की ओर थी | उन्हें यह प्रेरणा अपने माँ क्षेत्रमणि देवी से मिटटी के खिलौने आदि बनाते देखकर मिली | इस प्रकार 5 वर्ष तक उन्होंने चित्रकला की विधिवत शिक्षा ली | इसके बाद ही नंदलाल का सम्पर्क रवीन्द्रनाथ ठाकुर , आनन्दकुमार स्वामी , भगिनी निवेदिता आदि से हुआ |

उनके चित्रों की प्रशंशा होने लगी और चित्रकार के रूप में उनकी ख्याति बढती गयी | पहले वे पौराणिक विषयों और नर-नारी के चित्र अधिक बनाते थे | अब रवि बाबू की कविताओं के आधार पर जीवन की समस्याओं से संबधित चित्र बनाने लगे | अजन्ता के चित्रों की प्रतिकृति बनाना उनके जीवन की एक बड़ी सफलता थी | अब उनके चित्रों की प्रशंशा भारत ही नही विदेशो में भी होने लगी | राष्ट्रीय स्वाधीनता आन्दोलन का भी उनकी कला पर पर प्रभाव पड़ा |

उन्होंने कांग्रेस के अधिवेशनो के पैनल बनाये और महात्मा गांधी का लाइफ साइज़ रेखाचित्र बताया , जो बहुत प्रसिद्ध हुआ | उन्हें विश्वभारती ने “देशोत्त्म्म” की उपाधि दी | अनेक विश्वविद्यालयो ने डी.लिट. की उपाधि से सम्मानित किया | 1954 में वे भारत सकरार द्वारा “पद्म विभूषण” से सम्मानित किये गये | 1966 में उनका देहांत हो गया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here