Manohar Parrikar Biography in Hindi | मनोहर पारिकर की जीवनी

0
386
Manohar Parrikar Biography in Hindi | मनोहर पारिकर की जीवनी
Manohar Parrikar Biography in Hindi | मनोहर पारिकर की जीवनी

मनोहर पारिकर (Manohar Parrikar) एक भारतीय राजनेता है जो भाजपा पार्टी के सक्रिय सदस्य है | वर्तमान में मनोहर पारिकर गोवा के मुख्यमंत्री है जबकि इससे पहले मोदी सरकार में 2014 से 2017 तक भारत के रक्षा मंत्री रहे है | मनोहर पारिकर का जन्म गोवा के मपुसा में हुआ था | मारगाँव के लोयोला हाई स्कूल से उन्होंने प्रारम्भिक शिक्षा ली | इसके बाद उन्होंने अपनी सैकंडरी शिक्षा मराठी में पुरी की | मनोहर पारिकर  ने metallurgical engineering में IIT मुम्बई से स्नातक उत्तीर्ण की | मनोहर पारिकर (Manohar Parrikar) पहले IIT ग्रेजुएट है जो भारत के किसी प्रदेश के मुख्यमंत्री बने | 2001 में IIT मुम्बई में उन्हें कई अवार्ड्स से भी नवाजा |

पारिकर (Manohar Parrikar) ने कम उम्र में ही RSS में शामिल हो गये थे और अपने स्कूल के अंतिम दिनों में मुख्य शिक्षक पद पर नियुक्त हो गये थे | IIT से ग्रेजुएट होने के बाद उन्होंने मापुसा में RSS के लिए कार्य जारी रखा और केवल 26 साल की उम्र में संघचालक बन गये | पारिकर उत्तरी गोवा की नार्थ यूनिट से RSS के सक्रिय सदस्य थे जिन्होंने राम जन्मभूमि आन्दोलन में मुख्य भूमिका निभाई | RSS से वो BJP पार्टी में शामिल हो गये ताकि वो महाराष्ट्रवादी गोमान्तक पार्टी से लड़ सके | 1994 में परिकर गोवा से MLA चुने गये | जून 1999 से नवम्बर 1999 से तक वो विपक्ष के नेता बने रहे | 2000 में गोवा के विधानसभा चुनाव में पारिकर पहली बार मुख्यमंत्री बनकर आये लेकिन उनका कार्यकाल 27 फरवरी 2002 तक चला | 5 जून 2002 से वो एक बार फिर चुने गये और दुसरी बार मुख्यमंत्री बने |

29 जनवरी 2005 को BJP के चार MLA के रिजाइन करने के बाद उनकी सरकार अल्पमत वाली सरकार बन गयी जिससे कांग्रेस के प्रतापसिंह राणे गोवा के मुख्यमंत्री बने | 2007 के विधानसभा चुनाव में BJP की हार हुयी जबकि 2012 में सहयोगी पार्टियों की मदद से एक बार फिर BJP सत्ता में आ गयी और मुख्यमंत्री बन गये | 2014 में के लोकसभा चुनावों में गोवा की दोनों सीटो पर BJP आ गयी | 2014 में में गोवा का मुख्यमंत्री पद छोडकर उन्हें मोदी सरकार में बुलावा आया और पारिकर को रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया | अपने तेज तर्रार फैसलों के लिए पारिकर की काफी प्रशंशा होती थी |

14 मार्च 2017 को पारिकर (Manohar Parrikar) को एक बार फिर गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया जब गोवा में किसी पार्टी को बहुमत नही मिला था | गोवा में सहयोगी पार्टी केवल पारिकर के मुख्यमंत्री बनने पर ही BJP में शामिल होने को राजी हुयी थी इसलिए पारिकर को कैबिनेट से रक्षा मंत्री का पद छोड़ना पड़ा था |मनोहर पारिकर (Manohar Parrikar) की पत्नी मेधा पारिकर की 2001 में कैंसर की वजह से मौत हो गयी थी | पारिकर के दो पुत्र उत्पल पारिकर एक इलेक्ट्रिकल इंजिनियर है जबकि अभिजात परिकर एक बिजनसमैन है |

BiographyHindi.com के जरिये प्रसिद्ध लोगो की रोचक और प्रेरणादायक कहानियों को हम आप तक अपनी मातृभाषा हिंदी में पहुचाने का प्रयास कर रहे है | इस ब्लॉग के माध्यम से हम ना केवल भारत बल्कि विश्व के प्रेरणादायक व्यक्तियों की जीवनी से भी आपको रुबुरु करवा रहे है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here